Sunday, December 6, 2020

URISE Portal Kya hai/bteup/polytechnic urise portal registration kaise kare

 

प्राविधिक शिक्षा विभाग, प्रशिक्षण सेवायोजना एवं कौशल विकास मिशन की संयुक्त परिकल्पना, Unified Reimagined Innovation for Student Empowerment अर्थात् यू-राईज है। इस परिकल्पना को तकनीकी शिक्षा विभाग के निर्देशन अन्र्तगत, मूर्त रूप प्रदान किया है- डा0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय ने।

इस पोर्टल के माध्यम से तकनीकी शिक्षा, आई0टी0आई0 एवं कौशल विकास से जुड़े हुए सभी छात्र, शिक्षक, प्रशिक्षक, रोजगार देने वाली संस्थाएँ न केवल एक ही स्थान पर जुड़े है अपितु छात्रों के छात्र जीवन-चक्र से जुड़ी हुई समस्त सुविधाएँ और सूचनाएँ भी यहाँ पर उपलब्ध हैं और इन उपलब्ध सुविधाओं और सूचनाओं के साथ छात्र न केवल अपने आप को सशक्त कर सकेंगे अपितु वे पूरे विश्व के साथ भी जुड़ सकेंगे...

यह पोर्टल न केवल तकनीकी एवं कौशल शिक्षा से जुड़े हुए लगभग 12 लाख छात्रों को पठन-पाठन और प्रशिक्षण को सशक्त करेगा अपितु छात्रों के उनके स्वप्न के अनुरूप उनके सुनहरे भविष्य के निर्माण में भी उपयोगी सिद्ध होगा।

यू-राईज के प्रथम चरण में इस पोर्टल पर पाॅलिटेक्निक, आई0टी0आई0 और कौशल विकास विभाग को जोड़ा गया है। दूसरे चरण में राज्य के सभी प्राविधिक विश्वविद्यालयों को भी इससे जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है।

URISE PORTAL VIDEO :-

 

The Directorate of Technical Education ensures a planned development of Technical Education in the state consistent with the  policies of state and the Nation. The department is committed to provide need based, quality technical education and professional human resources to the industry, business and community.

Following are the functions of Technical Education Department:

IRDT :

  • The Institute of Research Development and Training is the institute of the state for understanding training research and consultancy functions in the technical education.

Board of Technical Education :

  • To affiliate institutions and prescribe courses of study and conduct examinations.
  • To prescribe standards for buildings and equipments of affiliated institutions.
  • To prescribe educational qualifications for admission of students and standards for buildings and equipments to the affiliated institutions.
  • To prescribe the manner of admission of students to affiliated institutions.
  • To conduct and publish results of students' examinations and award diploma certificates to successful candidates.

JEECUP :

Joint Entrance Examination Council Uttar Pradesh (Polytechnic) conducts entrance exam for admission to Diploma courses of Engineering, Technology and Management.The candidates who qualify JEEUP exam will be called to participate in further admission events such as counselling and seat allotment.

There are currently 1326 institutes functioning in U.P., out of which 147 are government, 19 are government-aided, 05 are other department institutes and 1155 are private institutes providing technical education in over 53 branches to more than 2.5 Lacs students.

 

छात्र सेवाएं

पंजीकरण

यू-राइज में पंजीकरण के पश्चात, छात्र इस पोर्टल का आजीवन सदस्य बन जाएगा और यू-राइज का उपयोग वह जीवन पर्यन्त कर सकेगा। इसके अलावा, सत्यापित और सुरक्षित अकादमिक क्रेडेंशियल्स को स्वचालित रूप से तृतीया पक्ष यथा बैंक, संभावित संस्थानों इत्यादि के उपयोग के लिए उपलब्ध कराया जायेगा।

और देखो

डैशबोर्ड

छात्र को एआई आधारित डैशबोर्ड मिलेगा जो उपयोगी पाठ्यक्रमों, ई-सामग्री के तत्काल सारांश और नवीनतम प्लेसमेंट सूचनाओं को उपलब्ध कराएगा।

और देखो
 

ई-सामग्री

सर्वश्रेष्ठ विशेषज्ञों द्वारा तैयार किये लैक्चर, टुटोरिअल, प्रश्न बैंक उपलब्ध कराये जायेंगे | यदि एक पुस्तक तुरंत उपलब्ध नहीं है (जैसा कि सभी प्रतियां अन्य छात्रों को जारी की गई हैं), वंहा छात्र अस्थायी उपलब्ध तिथियों की जांच कर सकते हैं और तदनुसार अपने अध्ययन की योजना बना सकते हैं।

और देखो

उपस्थिति

संस्थानों के संकाएँ छात्रों की उपस्थिति प्रतिदिन लगाएंगे| यह उपस्थिति छात्रों को भी देखने के लिए उपलब्ध होगी और आवश्यकता अनुसार छात्र संभावित संकाय से त्रुटि निवारण के लिए अनुरोध कर सकते हैं |

और देखो

ऑनलाइन कक्षाएं

COVID-19 जैसी भयावह स्थितियों में छात्रों के लिए नियमित कक्षाएं आयोजित करना बहुत जोखिम भरा है और कई बार तो सरकार ऐसी स्थितियों में इसके लिए अनुमति भी नहीं प्रदान करती| ऐसे समय में छात्र, अध्यापकों द्वारा अपलोड किए गए ऑनलाइन लेक्चर्स और ट्यूटोरियल के माध्यम से अपना अध्ययन जारी रख सकते हैं| नियमित कक्षाओं में छात्रों के लिए सिर्फ़ अपने कॉलेज के अध्यापकों के व्याख्यान उपलब्ध होते हैं| किन्तु यहाँ न केवल अपने कॉलेज के अपितु दूसरे कॉलेज के अध्यापकों के व्याख्यान भी उनके लिए उपलब्ध रहेंगे|

और देखो

प्रदर्शन

कौशल विकास के छात्रों का कई महीने और पॉलिटेक्निक व आईटीआई के छात्रों का कई वर्षों का शैक्षिक कॅरियर होता है| ऐसे में उनके कॅरियर की निगरानी की सुविधा भी इस पोर्टल पर प्रदान की गयी है| जिसे ‘वन व्यू’ के माध्यम से छात्रों के साथ उनके माता-पिता भी देख सकते हैं| इस वन व्यू सुविधा का लाभ वे संस्थाएं भी उठा सकती हैं, जहां पर छात्र नौकरी के लिए ख़ुद को पंजीकृत करते हैं|

और देखो

शिकायत

छात्रों को संस्थान, अध्यापकों या संस्थान के प्रशासन के साथ किसी भी तरह की समस्या हो सकती है| ऐसे में वे पोर्टल के माध्यम से अपनी शिकायते दर्ज करवा सकते हैं| जिन्हें निर्धारित समयावधि में हल किया जाएगा| इस सेक्शन का पर्यवेक्षण शासन से लेकर मुख्यालय तक के अधिकारी करेंगे| सभी शिकायतों का समयबद्ध निस्तारण करना संस्थान / कमेटी की जिम्मेदारी होगी| इससे व्यवस्था को पारदर्शी बनाने में तथा बेहतर सुविधा देने में मदद मिलेगी|

और देखो

शुल्क Coming Soon...

छात्र नेट बैंकिंग की सुविधा का इस्तेमाल कर अपना किसी भी प्रकार का शुल्क जैसे- परीक्षा, पंजीकरण या पुनर्मूल्यांकन शुल्क इत्यादि पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन जमा कर सकते हैं| यदि किसी छात्र के पास क्रेडिट या डेबिट कार्ड नहीं है और वह नेट बैंकिंग की सुविधा का इस्तेमाल नहीं करता है तो वह ऑनलाइन चालान जनरेट करके बैंक की किसी भी शाखा में जाकर शुल्क जमा कर सकता है|

और देखो

डिजी लॉकर

छात्रों के सभी शैक्षणिक दस्तावेज जैसे – डिप्लोमा, सर्टीफिकेट और मार्कशीट इत्यादि को डिजी लॉकर में सहेजा जा सकता है| जिसे कहीं से और कभी भी एक्सेस किया जा सकता है| डिजी लॉकर में सहेजे गये दस्तावेजों को मूल दस्तावेज ही माना जाता है| इससे छात्रों को मूल दस्तावेज हमेशा अपने साथ रखने की जरूरत नहीं होती है और उनके मूल दस्तावेज पूरी तरह सुरक्षित रहते हैं|

और देखो
प्रतिपुष्टि छात्र अपनी बहुमूल्य प्रतिक्रिया दे सकते हैं जो यू-राइज को अपनी सेवाओं को बेहतर बनाने में मदद करेगा।
 
To be know more just Click -  Click Here

 

 

 

 

 

 

No comments:

Post a Comment